आधुनिक तकनीक से देश में केवल बछिया ही पैदा होगी

Author :
Published On : 2018-11-22 00:23:14

आज के जीवन की शोकांतिका 
आधुनिक तकनीक से देश में केवल बछिया ही पैदा होगी
देश में अगले साल से कृत्रिम गर्भाधान से केवल बछिया पैदा हो सकेगी। लिंग साॅर्टेड सीमन तकनीक 1 दिसंबर से शुरू हो जाएगी। इससे देश में हर साल करीब पौने चार करोड़ दुधारू पशुओं की संख्या बढ़ेगी और दूध का उत्पादन 17.6 करोड़ टन बढ़ जाएगा। महाराष्ट्र और उत्तराखंड में 15 अक्टूबर को लिंग साॅर्टेड सीमन का उत्पादन शुरू हो चुका है और अब इसका इस्तेमाल शुरू हो जाएगा। 
देश में इस समय 30 प्रतिशत (साढ़े सात करोड़) कृत्रिम गर्भाधान होता है। माना जाता है कि 50-50 प्रतिशत मेल और फिमेल होते हैं। इस तरह पौने चार करोड़ बैल, भैंस आदि होते हैं, लेकिन इस तकनीक से ये फिमेल ही होंगी, जिससे मौजूदा दूध का उत्पादन 17.6 करोड़ टन से बढ़कर 35 करोड़ टन के करीब पहुंच जाएगा। साथ ही कृत्रिम गर्भाधान को 30 प्रतिशत से बढ़ाकर 80 प्रतिशत तक करने की तैयारी है। प्रोजेक्ट के प्रमुख डाॅ.भूषण त्यागी ने बताया कि 1 दिसंबर से देश के पांच राज्यों से इस तकनीक की शुरूआत की जाएगी।